Menu Close

Yo Haryana Hai Pardhaan Lyrics in Hindi | KD |

Yo Haryana Hai Pardhaan Lyrics in Hindi | KD |
Spread the love


जवाना की धरती किसाना की धरती

दंगल अखाडे पहलवाना की धरती

माटी नै माथै कै ला कै प्रवेश करो

मेरा हरियाणा भगवाना की धरती

आजाओ जी आप का स्वागत है मन से

फील मत करियो जी थोड़े बहोत फन से

फुल माला वाला तो रिवाज़ है पुराना

जी एंट्री कराएगे बत्तीबोर गन से

डरियो ना भाई साहब लोग सारे अच्छे है

काळजै क्लीन थोड़े अकल कै कच्चे है

छोटी छोटी बाता पै फोड़ दे से कारतुष

मान दे तो कोनी भाई के करा बच्चे है 

आडै कोए किसे सालै तै डरदा नी

कोए फालतू बवंडर भी करदा नी

मित्र के चक्कर मै भीतर भी जावै

बट हीर पाछे राँझा कोए मरदा नी

क्यूकी यू हरियाणा है प्रधानना

कोए जानू ना कोए जान मानना बाबू नै भगवान 

देखा फैदा ना नुक्सान

यो हरियाणा है प्रधान 

दे दा यारी खातर जान राखा यारा का फुल ध्यान 

एकक बंदा है तूफान यो हरियाणा है प्रधान

          Yo Haryana Hai Pardhaan RAP

काला कुर्ता काली जूती काली मूंछ दाढ़ी बेटे।

काला है बुलेट और काली मारी गाड़ी बेटे

काली काली रातआ नै बनावा हाथ काडी बेटे

कालै कारनामे काली सोच कोन्नी साड्डी बेटे

काड्डी कईया की मरोड़ जमा तोड़ कै रै बोढ कै 

नी बोलदा जो गेर दिया फोड़ के निचोड कै 

रै जोड़ कै किनारे तैने छोड कै मौड़ कै 

चढ़ादया बेटे लठ तेरी सोड कै

रैप मैं ना करिए रै मेरे तै मुकाबला 

बिना साँस लिए तैने कर दयू गा बावला

रैन दे नै बेटे क्यनै होवै से उतावला 

मैने खाए धकै तैने खाया होगा आंवला 

खेता मैं बनै मारे बालका कै डोलै 

पकै जुबान कै रै दिल कै सा धोले 

देख हनुमान जी का टेटू यू छाती पै

बाजू पै लिख राख्या बम बम भोले 

माँ हरियाणा पंजाब म्हारी मोसी 

दिल्ली भी म्हारा कति एंडी पड़ोसी 

राजस्थान यूपी है भाई म्हारे लाडले 

सिस्टम हिला दया गै बहन की …..

ना ना ना यो के डी है प्रधान

ना कोए ऑडर ना ऐलान ना हम सुनना फालतू ज्ञान

किसै का लेतेनी अहसान यो हरियाणा है प्रधान

ना कोए जानू ना कोए जान मानना बाबू नै भगवान 

देखा फैदा ना नुक्सान यो हरियाणा है प्रधान

आड्डे बिना पर्मिट यमराज भी नी आनंदा 

चिड़िया कै पाछै कोए बाज़ भी नी आनंदा

बेरा है लठ्ठा गैल तोड़ दयागे पांखडी रै

बादला तै नीचे कोए जहाज भी नी आंदा 

बिद्या का नैम भाई बोलूगा साची 

पंगा जे होजावै छोड़ा नी काची 

तोड़ राखै हाड़ कुरुक्षेत्र मैं यार पानिपत 

की लड़ाई मारी धरती पै माची

धाखड़ हा दिल के रै आंकड है बोली मैं

पहाड़ा सा पढ़ दयागे गैर कै खटोली मैं 

लोकल कै आगै तू खोलिए ना वॉकल रै 

मिनट मैं चढ़ा दयागै पैन तेरी पोली मैं

पूरा प्राउड है घमंड कोनी करदे

बीना बात फालतू कै फण्ड कोनी करदै

प्यार भी करा तो प्योर दिल तै निभावा 

किसे कन्या की जिंदगी ने झंड कोनी करदै 

बरदे नी कदे किसे साले का पानी 

बाबू है राजा और माँ महारानी 

अपना ही राज्य ओर अपनी ही प्रजा है 

राजा के बेटे नै अपनी चलानी 

क्यू क्योंकि यो हरियाणा है प्रधान



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *